हरियाली तीज पर भूलकर भी ना करें ये 4 गलतियां। जानिए शुभ मुहूर्त, उपाय, पूजा विधि

इस साल सावन की हरियाली तीज का पावन पर्व रविवार के दिन 31 जुलाई 2022 को मनाया जाएगा इस दिन भगवान शिव और मां पार्वती की पूजा अर्चना की जाती है और सावन मास की शुक्ल पक्ष की तृतीया तिथि। सुहागन महिलाओं के लिए बहुत महत्वपूर्ण होती है इस दिन अखंड सौभाग्य प्राप्ति के लिए पति की लंबी आयु के लिए सभी सुहागन महिलाएं व्रत धारण करती हैं।

शुभ मुहूर्त– सावन की हरियाली तीज की तृतीय तिथि प्रारंभ हो रही है 31 जुलाई सुबह 2:59 मिनट पर और यही तृतीय तिथि समाप्त हो रही है 1 अगस्त सुबह 4:18 पर तो 31 जुलाई को हरियाली तीज मनाई जाएगी। इसमें प्रदोष काल की पूजा का विशेष महत्व होता है भगवान शिव और माता पार्वती की पूजा शाम को 6:37 से रात्रि 8:15 तक का जो समय है यह प्रदोष काल की पूजा का विशेष समय है इसी समय विशेष पूजा आराधना करने से सभी प्रकार की मनोकामनाएं पूर्ण होती हैं आप सुबह भी पूजा कर सकते हो घर में कर सकते हो या कहीं बाहर अच्छा जाकर कर सकते हो जैसे की हम सभी जानते हैं कि अगर हम भगवान शिव की पूजा शाम के समय में करते हैं तो यह अच्छा रहेगा। प्रदोष काल की पूजा को बहुत महत्वपूर्ण माना गया है।

उपाय- (सुहागन स्त्रियां)- आज की पूजा सभी महिलाओं और कन्याओं को करनी चाहिए जिसमें भगवान शिव को दूध अर्पित कीजिए और जो कि कच्चा हो आप गाय या भैंस किसी का भी ले सकते हैं गाय का हो तो और भी अच्छा है दूध मैं आप दो-तीन धागे केसर के डालें । इस दूध में भगवान भोलेनाथ का अभिषेक करें वैसे प्रयास करना चाहिए कि पति पत्नी दोनों मिलकर ये पूजा करें अगर आप अकेली हो तो कोई बात नहीं आप अकेले भी कर सकती हैं विधिवत भगवान शिव की पूजा आराधना करें और केसर मिश्रित दूध से भोलेनाथ का अभिषेक करें ।पूजा करते समय आप इन मंत्रों का जप कर सकते हैं। ऊॅ उमा महेश्वराय नमः ,ऊॅ उमा शंकराय नमः, ऊॅ गौरी शंकराय नमः। आप इन तीनों में से किसी एक मंत्र का जप करते हुए मां पार्वती और शिव का ध्यान करें इस मंत्र का अधिक से अधिक जप करें इस उपाय को करने से दांपत्य जीवन में मधुरता आती है प्रेम बढ़ता है पति पत्नी के रिश्ते में कोई क्लेश नहीं होता और आज के दिन संध्या के समय भगवान शिव शिव पार्वती को 11 या अपने मन से दीपक प्रज्वलित कर उन्हें अर्पित करें.

कन्याएं- आज के दिन भगवान शिव और माता पार्वती की विधिवत पूजा लड़कियों को भी करनी चाहिए ।आप चाहे तो मंदिर जाकर कर सकती हैं या घर पर ही कर सकती हैं शीघ्र विवाह के लिए या मन चाहे वर के लिए शिवलिंग पर केसर मिश्रित दूध अर्पित करें और कुंवारी कन्या आज के दिन माता पार्वती को मेहंदी अर्पित करें मेहंदी अर्पित करने के बाद उसकी मेहंदी को प्रसाद स्वरूप अपने हाथों पर लगाए और माता पार्वती की पूजा करते समय आप उन्हें 11 साबुत हल्दी की गांठ भी अर्पित कर सकती हैं और फिर उस हल्दी को किसी पीले कपड़े में बांधकर कहीं अलमारी में छिपा कर रख दें जैसे ही आपका विवाह हो जाए तो आप उस हल्दी को जल में विसर्जन कर दें या भूमि विसर्जन कर दे। जिससे आपकी विवाह में कोई वादा नहीं आती है और सुहागन महिलाएं किनी 5 सुहागन महिलाओं को सुहाग का सामान दान करे और उनके चरण स्पर्श कर उनका आशीर्वाद लें.

क्या भूल ना करें.

1- आज के दिन जल्दी उठे और स्नान आदि से निवृत होकर पूजा करें भगवान के मंत्रों का जप आदि करें.

2- आज के दिन किसी को बुरा ना कहे किसी पर क्रोध ना करें ना ही किसी के बारे में गलत सोचे । आज के दिन अपने आप को शांत रखें.

3- आज कितनी स्त्रियों को काले या सफेद रंग के वस्त्र धारण नहीं करने चाहिए जिससे वैवाहिक जीवन में समस्याएं पैदा हो सकती हैं.

4- इस दिन उपवास रखना लाभकारी होता है अगर व्रत ना कर पाए तो केवल सात्विक आहार ग्रहण करें ।और इस दिन मांसाहार भोजन से बचें.

Anjali Singh

Content Writer from Firozabad in Uttar Pradesh. Live in New Delhi

Leave a Reply

Your email address will not be published.